जैन (Jain) मुनि शुद्ध सागर महाराज का निवाई से गाजे बाजे के साथ हुआ विहार

जैन (Jain) मुनि शुद्ध सागर महाराज का निवाई से गाजे बाजे के साथ हुआ विहार
जैन (Jain)  मुनि शुद्ध सागर महाराज निवाई से विहार करते हुए।

जैन (Jain) मुनि शुद्ध सागर महाराज का गाजे बाजे से निवाई से विहार

निवाई (न्यूज़ अपना टोंक) – सकल दिगम्बर जैन (Jain) समाज के तत्वावधान मे चातुर्मास कर रहे जैन मुनि शुद्ध सागर महाराज एवं क्षुल्लक अकम्प सागर महाराज का गुरुवार को निवाई से रावतभाटा के लिए गाजे बाजे से विहार हुआ। इस दौरान विहार से पूर्व चंद्र प्रभु मंदिर बंपुई में विदाई समारोह आयोजित किया गया। जैन (Jain) समाज के प्रवक्ता विमल जौंला एवं राकेश संघी ने बताया कि विहार एवं विदाई समारोह में मंगलाचरण खुशबू जैन एवं ज्ञानचंद जैन ने भजन के साथ किया। कार्यक्रम से पूर्व त्रिलोक जैन, विष्णु बोहरा, नवरत्न टोंग्या, संजय जैन, अजीत काला एवं मनन दत्तवास ने श्रीफल चढाया। इसके बाद क्षुल्लक अकम्प सागर महाराज ने मोक्ष मार्ग प्रशस्त करने के लिए मोक्ष मार्ग का महत्व बताया। इस अवसर पर मुनि शुद्ध सागर महाराज ने श्रद्धालुओं को संबोधित करते हुए कहा कि हमारा इतिहास इस बात का साक्षी है कि मानवों ने ही नहीं दानवों ने भी इसको आस्था पूर्वक ह्रदय में धारण किया तो उनका भी कल्याण हुआ।

Read More :- अनेक धार्मिक और सांस्कृतिक कार्यक्रम के साथ हुआ सुपार्श्वनाथ महामण्डल विधान का आयोजन।

उन्होंने कहा कि लौकिक क्षेत्र में जब विश्वास की पताका भू से अम्बर तक लहरा रही है तब मोक्षमार्ग में तो इसकी उपादेयता स्वतरू सिद्ध हो जाती है। जैन (Jain) मुनि शुद्ध सागर महाराज ने भगवान चंद्र प्रभु के दर्शन करके उपस्थित श्रद्धालुओं को आशीर्वाद प्रदान किया। कार्यक्रम के पश्चात जैन मुनि ने चंद्र प्रभु मंदिर बंपुई वाले के चैत्यालयों से गाजे-बाजे से विहार किया।

यह भी पढ़ें :- सभी प्रकार की सरकारी योजनाओ के लिए यहाँ देखे – sarkariyojnaye.org

Spread the love
Avatar

Vimal Jola

विमल जौला निवाई शहर के न्यूज़ रिपोर्टर है। जिनका मुख्य उद्देश्य निवाई तहसील के आस पास की सभी खबरों को जन जन तक पहुंचाना एवं जनता को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक करना है। अपने आस पास की ख़बरों, लेखों एवं विज्ञापन के लिए सम्पर्क करें - 8104889200, 9251566935

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *