प्राइवेट अस्पताल में मरीज की हुई मौत, अस्तपताल में परिजनों ने किया हंगामा:

प्राइवेट अस्पताल में मरीज की हुई  मौत, अस्तपताल में परिजनों ने किया हंगामा:

डॉक्टर पर इलाज में लापरवाही का आरोप लगाया, और कड़ी कार्रवाई की मांग की :

टोंक शहर के एक प्राइवेट अस्पताल में इलाज के दौरान मरीज की मौत हो गई। मरीज की मौत के बाद नाराज़  परिजनों ने अस्पताल प्रबंधन पर इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप लगाते हुए अस्तपताल में  हंगामा कर दिया। हंगामे की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और परिजनों को समझाया और शांत किया । परिजनों ने कोतवाली थाने में अस्पताल प्रबंधन के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

जानकारी के अनुसार नैनसुख की बगिया निवासी प्रहलाद सैनी को दिल की बीमारी थी। परिजनों ने उसे टोंक के अग्रवाल अस्पताल मे भर्ती कराया था, जिसका इलाज चिरंजीवी योजना में चल रहा था। इसके बावजूद भी अस्पताल ने  जांचों के नाम पर परिवार से 10 हजार रुपए वसूल लिए। परिजनों ने बताया कि इलाज के दौरान मरीज की तबीयत ज्यादा बिगड़ गई, लेकिन उसे न तो रेफर किया गया और न परिजनों को वास्तविक स्थिति बताई। डॉक्टर ने मरीज को आईसीयू में रखा और परिजनों को मिलने नहीं दिया। परिजनों ने बताया कि सुबह मरीज की मौत हो गई थी, लेकिन 2-3 घंटे तक  तो उसकी मौत के बारे में परिजनों नही  को बताया। बाद में उन्होंने मरीज को देखने की जिद की तो डॉक्टर ने बताया कि उसकी मौत हो गई है |

मरीज की मौत की जानकारी मिलने पर परिजनों ने हंगामा खड़ा कर दिया। जानकारी मिलने पर कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची और परिजनों से बात की। मृतक के परिजनों ने कहा कि अस्पताल प्रबंधन के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाये । पहले भी इलाज में लापरवाही के चलते 6-7 महीने में 3 लोगों को मौत हो गई। पुलिस ने लोगों को समझाया कि रिपोर्ट मिलने पर नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी। फिर परिजन माने तो पुलिस ने सआदत अस्पताल की मॉर्च्युरी में पोस्टमॉर्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया और जांच में जुटी है।

Spread the love
Avatar

Team ApnaTonk

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *